ADS

NITI AAYOG KYA HAI ? (नीति आयोग क्या है ?)

WHAT IS NITI AAYOG?

NITI AAYOG
नीति आयोग 
2014 में हुए लोकसभा के चुनाव के पश्चात बहुमत से आयी बीजेपी की सरकार ने केंद्र और राज्य सरकार के योजनाओ की नीतियों को तैयार करने के लिए पूर्व में कार्यरत योजना आयोग के स्थान पर नई संस्था नीति आयोग(NITI AAYOG) को स्थापित किया। 

नीति आयोग की स्थापना -

15 अगस्त 2014 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के लाल किला से देश को सम्बोधित करते हुए योजना आयोग के स्थान पर नीति आयोग लाने को घोषणा किये। 1 जनवरी 2015 को मंत्रिमंडल के प्रस्ताव के पश्चात नई संस्था "राष्ट्रीय भारत परिवर्तन संस्थान"(National institution for transforming India-NITI),आस्तित्व में आयी.जिसे "नीति आयोग" के नाम से जाना जाता है। 



योजना आयोग -

15 मार्च 1950 को केंद्र सरकार के मंत्रिमंडल द्वारा पारित प्रस्ताव के बाद योजना आयोग की स्थापना की गयी। भारत के इस संस्था "योजना आयोग" के बारे में कोई संवैधानिक प्रावधान नही है। जिसके पश्चात 15 अगस्त 2014 को इसे समाप्त करने की घोषणा की गयी। योजना आयोग का अध्यक्ष देश का प्रधानमंत्री होता था। 


नीति आयोग का कार्य -

प्रधानमंत्री के अध्यक्षता वाली यह संस्था सरकार(Government)के थिंक टैंक के रूप में देश में कार्यरत है,यह केंद्र सरकार के साथ साथ राज्य सरकार के लिए भी नीति निर्माण करने वाली संस्था की भूमिका निभाता है। इसके अलावा यह राष्ट्रीय व अंतराष्ट्रीय महत्व के महत्वपूर्ण मुद्दों पर रणनीतिक व तकनीकी सलाह भी देता है तथा पंचवर्षीय योजनाओ के स्वरुप के बारे में भी सरकार को सलाह देता है। 



नीति आयोग की मुख्य संरचना -

  • अध्यक्ष- नरेंद्र मोदी (प्रधानमंत्री)
  • उपाध्यक्ष - डा.राजीव कुमार (अर्थशास्त्री)
  • मुख्य कार्यकारी अधिकारी - अमिताभ कांत 
  • पूर्णकालिक सदस्य -विवेक देवरॉय,विजय कुमार                        रमेश चंद 


उपरोक्त संरचना में अध्यक्ष के अलावा उपाध्यक्ष की नियुक्ति प्रधान मंत्री(Prime minister) करते है। मुख्य कार्यकारी अधिकारी(सीईओ),भारत सरकार के सचिव स्तर का अधिकारी होता है जो प्रधानमंत्री के द्वारा निश्चित काल के लिए नियुक्त किया जाता है। 




उपरोक्त जानकारी में नीति आयोग के महत्वपूर्ण टॉपिक्स को Cover किया गया है जो परीक्षा की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण है.जानकारी शेयर कर अन्य छात्रों की सफलता सुनिश्चित करे। 
                   धन्यवाद    





Post a Comment

0 Comments