ADS

NET NEUTRALITY : नेट निरपेक्षता

नेट निरपेक्षता (NET NEUTRALITY)

NET NEUTRALITY


क्या है Net Neutrality-

इंटरनेट पर सभी लोगों का बिना किसी भेदभाव के पहुंच को सुनिश्चित करना ही नेट निरपेक्षता (Net neutrality)है..
नेट निरपेक्षता के सिद्धांत के अनुसार "इंटरनेट एक खुला ढांचा(open network)है ,और यह सभी को सामान रूप से उपलब्ध होना चाहिए। 


विवाद -

भारत में इंटरनेट निरपेक्षता को लेकर विवाद दूरसंचार कंपनी एयरटेल से शुरू हुआ जब एयरटेल ने दिसंबर 2014 में इंटरनेट आधारित "Over the Top (OTT)" सेवा के लिए अलग से शुल्क का निर्धारण किया,परन्तु विरोध के पश्चात इसे कंपनी ने वापस ले लिया। फिर विवाद तब शुरू हुआ जब कंपनी ने एक न्य मार्केटिंग प्लेटफार्म "एयरटेल जीरो "लांच किया।  



TRAI की सिफारिशें -

भारत सरकार की एक महत्वपूर्ण इकाई ,भारतीय दूरसंचार बिनियामक प्राधिकरण (TRAI) ने नेट निरपेक्षता के मुद्दे पर 28 नवंबर 2017 को सिफारिशें जारी की ,उसके अनुसार इंटरनेट खुला ढांचा है जो सभी के लिए सामान रूप से उपलब्ध होना चाहिए ,कुछ विशेष सेवाएं ही प्रस्तावित सिधान्तो  के दायरे से बहार जा सकती है। 



निष्कर्ष -

उपरोक्त अध्ययन नेट निरपेक्षता से सम्बंधित है जिसमे बताया गया है की इंटरनेट एक ओपन नेटवर्क है जिसे सभी लोगो के द्वारा बराबर रूप से एक्सेस किया जा सकता है। 




इसे भी पढ़े -प्रोजेक्ट धुप 
  



प्रिय पाठको ,
        यदि आपको जानकारी अच्छी और लाभदायक लगे तो शेयर करे। 
      धन्यवाद 

Post a Comment

1 Comments